You are currently viewing हमारा पड़ोसी देश जहाँ कोरोना से कोई मौत नहीं हुई

हमारा पड़ोसी देश जहाँ कोरोना से कोई मौत नहीं हुई

हमारा पड़ोसी देश जहाँ कोरोना से कोई मौत नहीं हुई

96 मिलियन की जनसंख्या वाला देश और एक भी मौत कोरोना से नहीं हुई. क्या आप यकीन करेंगे? आंकड़ों की बात करें तो आज (21 जुलाई) जहाँ पूरे विश्व में 1.5 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हैं जिसमे से 6 लाख से ज्यादा की मौत हो चुकी है. कोरोना से भारत आज संक्रमित की सूची में तीसरे व मृत्यु संख्या में आठवें स्थान पर है . वहीँ हमारा एक ऐसा पड़ोसी देश भी है जिसकी सीमा चीन से सटी हुई है लेकिन वहाँ आज तक कुल संक्रमित 400 से भी कम हैं और एक भी मौत कोरोना से नहीं हुई है. उस देश का नाम है विएतनाम. जनसंख्या में यह देश पूरे विश्व में 15वें स्थान पर है लेकिन उसके बाद भी यहाँ ऐसा क्या किया गया कि कोरोना के कहर से यह बचा हुआ है ? तो आइये जानते हैं :

कोरोना केस की पुष्टि WHO के इस लिंक से की जा सकती है https://covid19.who.int/region/wpro/country/vn

  1. जल्दी शुरुआत – 23 जनवरी को जब विएतनाम में कोरोना वायरस का पहला केस कन्फर्म हुआ वहां का प्रशासन तभी हरकत में आ गया और उन्होंने अपनी चाइना से लगी सीमा को लगभग सील कर दिया और लोगों पर यात्रा पाबन्दियाँ लगा दीं. उन्होंने अपनी स्वास्थ्य जांचों को बढ़ा दिया और उन स्थानों पर विशेष ध्यान दिया जो कोरोना संक्रमण को बढ़ा सकते थे .
  2. स्कूल बंदी – जनवरी के आखिरी सप्ताह से ही सारे स्कूल बंद कर दिए गए जो मई के महीने तक बंद रहे.
  3. क्वारनटीन करना – विएतनाम ने मध्य मार्च से हर उस व्यक्ति को 14 दिनों के लिए क्वारनटीन सेंटर भेज दिया जो बाहर देश से आया था या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आया था .
  4. शानदार नारा – विएतनाम ने एक भावनात्मक नारा “महामारी से लड़ना दुश्मन के खिलाफ लड़ने जैसा है” देकर सारी जनता को वायरस के विरुद्ध एकजुट किया. इस राष्ट्रवाद की भावना ने कोरोना से लड़ाई जीतने में विएतनाम की मदद की.
  5. विएतनाम के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, वियतनाम ने जनवरी की शुरुआत में ही COVID-19 के लिए अपने खुद के परीक्षण किट विकसित किए और 90 % की सटीकता के साथ एक घंटे के भीतर परिणाम प्रदान करने में वाले किट निर्मित किये .
  6. लक्षित लॉकडाउन- विएतनाम में अलग अलग गाँव,शहर,ज़िला,प्रांत,क्षेत्रों में संक्रमण की दर के हिसाब से लॉकडाउन लगाया. जिसके कारण एक सीमित संख्या में ही लोग लॉकडाउन से प्रभावित हुए . वियतनाम ने 1 अप्रैल को एक राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाया जो 22 अप्रैल को हटा दिया गया। शुरू में, लॉकडाउन 15 दिनों के लिए निर्धारित किया गया था, लेकिन 63 प्रांतों में से 28 में इसे 21 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया था।
  7. जहाँ कई देशों के नेताओं ने COVID-19 के खतरे को कम कर बताया वहीँ वियतनामी सरकार ने अपने यहाँ पहले मामले की रिपोर्ट करने से पहले ही बीमारी के खतरों के बारे में स्पष्ट और मजबूत शब्दों में बताया।
  8. महामारी के दौरान विएतनाम सरकार ने पारदर्शिता के साथ जानकारी प्रदान करके खुद को प्रभावी नेतृत्व के रूप में प्रस्तुत किया है।
  9. स्वास्थ्य मंत्रालय ने न केवल चिकित्सा प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए एक वेबसाइट और एक मोबाइल एप्लिकेशन लॉन्च करने की पहल की, बल्कि सटीक जानकारी को जल्दी से जल्दी प्रसारित करने के लिए भी कार्य किया।
  10. डिजिटल तंत्र ने गलत सूचनाओं को फैलाने या मुनाफाखोरी में लिप्त लोगों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही के अलावा, अफवाहों और फर्जी खबरों के प्रसार पर भी रोक लगाई.

    pic credit: pixabay.com

अपनों के साथ शेयर करें

This Post Has One Comment

Comments are closed.