माज़ी

माज़ी से जुड़े रहोगे, तुम भी याद की तरह याद आओगे तुम भी, किसी फ़रियाद की तरह बेहतर यही है यार, तुमको प्यार ना करूँ कहते हैं यह गफ़लत है,…

Continue Reading माज़ी

…छोड़ जाते

वो हमारे सुकून का सामां छोड़ जाते, हमारे अश्क और अपने कदमों के निशां छोड़ जाते । हम छोड़ देते जहां उनको पाने के बाद, अपने मिलने का कोई मुकां…

Continue Reading …छोड़ जाते

माँ स्तुति

मां स्तुति तू ही मेरी मां तू ही मेरा ध्यानमां तू जग में महान मेरी मां तू जग में महान l… जीवन के हर पल में तेरा ही मानखुशी और…

Continue Reading माँ स्तुति

शहादत

प्रिय बंधुओं 15 एवं 16 जून '20 की दरमियानी रात में 20 भारतीय सैनिक ने 40 चीनी सैनिकों को मारकर वीरगति पाई, जिसके कारण सम्पूर्ण भारत आक्रोशित है, इसी आवेश में प्रस्तुत है ये रचना ।

Continue Reading शहादत

नाख़ुदा

नाख़ुदा  हर ज़ख्म हँसकर कोई, जज़्ब करना सिखा दे।   रूठी हुई जिंदगी को कोई, हँसना सिखा दे।   अश्कों से सागर भर दिए, हमने कुछ इस तरह-  पलकों को बंद करके उन्हें, कोई थमना…

Continue Reading नाख़ुदा

बदलाव

बदलाव मौसम बदला राहें बदली जीवन का हर रंग बदला अपना अपनापन बदला बदल गया है सब कुछ l खुशी बदली गम बदले चांद बदला चांदनी बदली प्यार बदला यार…

Continue Reading बदलाव

ख़ामोशी

ख़ामोशी एक कमरा खामोश इतना खामोश की बहुत खामोश ll फोन ए मोबाइल ने चुप्पी साधी टीवी ने खामोशी का राग गाया  किचन भी कुछ कम नहीं था घर का…

Continue Reading ख़ामोशी

श्रद्धांजलि

श्रद्धांजलि   जब कभी भी मेरा मन घबराता, माँ तुम्हारा चेहरा याद आता। हमेशा तेरा एहसास ही मेरा संबल बनता, हैरान हूँ मैं कि तुम बिना पढ़े लिखे भी, मेरे…

Continue Reading श्रद्धांजलि

अकेला हूँ मैं

अकेला हूँ मैं वो  मृगतृष्णा का मंज़र वह जेहन में भरी आस एक नितांत अनबुझी सी प्यास क्योंकि ... अकेला हूँ मैं । बोलता हूँ, सुनता हूँ, टाल जाता हूँ…

Continue Reading अकेला हूँ मैं

अजनबी शहर के अजनबी रास्ते

अजनबी शहर के अजनबी रास्ते   अजनबी शहर के अजनबी रास्ते खोजते हैं हमें देखते हैं कहां कल थे हम जहां पर वो तो थे हम कल उनके वास्ते  अजनबी…

Continue Reading अजनबी शहर के अजनबी रास्ते

कसक

  कसक आज आंखों में कसक है पर सब चुप क्यों हैं क्या आज भी कोई  तूफान आने वाला है।  कई बार तुझे समझाया है ए दिल तू खेल मत…

Continue Reading कसक